बसंत पंचमी 29 जनवरी को, मां सरस्वती की मूर्तियों को अंतिम रूप देने में जुटे मूर्तिकार..

Total Views : 138
Zoom In Zoom Out Read Later Print

29 जनवरी को बसंत पंचमी है और इसे लेकर शहर भर में जोर-शोर से तैयारी चल रही है| इस दिन जगह-जगह मां सरस्वती की पूजा की जाती है| एक तरफ आयोजन को लेकर अलग-अलग समितियां तैयारी में जुटी हैं वहीं मूर्तिकार मां सरस्वती की मूर्तियों को अंतिम स्वरूप देने में लगे हैं|

29 जनवरी को बसंत पंचमी है और इसे लेकर शहर भर में जोर-शोर से तैयारी चल रही है| इस दिन जगह-जगह मां सरस्वती की पूजा की जाती है| एक तरफ आयोजन को लेकर अलग-अलग समितियां तैयारी में जुटी हैं वहीं मूर्तिकार मां सरस्वती की मूर्तियों को अंतिम स्वरूप देने में लगे हैं|

पूरे बोकारो जिले में धूमधाम से सरस्वती पूजा मनाई जाती है खासकर छात्रों में विशेष रूप से उत्साह देखने को मिलता है| इसके अलावा सभी सरकारी, निजी विद्यालयों व कोचिंग सेंटर व संस्थानों में भी सरस्वती पूजा का आयोजन होता है| ऐसे में एक दिन पहले ही सभी पंडालों में मूर्तियां पहुंच जाती है|इसलिए मूर्तिकार भी अब मूर्तियों को जल्द पूरा करने में जुटे हुए हैं| मूर्तिकारों का कहना है कि चूंकि अब सरस्वती पूजा में ज्यादा दिन शेष नहीं रह गया है इसलिए अब मूर्तियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है|

बोकारो में विभिन्न जगहों पर स्थानीय मूर्तिकार मूर्ति बनाते हैं| जिसमें उनके साथ उनके परिवार के बच्चे भी हाथ बंटाते हैं| मूर्तिकारों का कहना है कि इन्हें भी अब धीरे-धीरे मूर्ति बनाने का काम सिखाया जा रहा है, ताकि आने वाले दिनों में और भी एक अच्छा मूर्तिकार बन सके|

See More

Latest Photos